मनमोहन के हर मंत्री की संपत्ति में औसतन १० कऱोड का इजाफा

नई दिल्ली, १६ सितंबर। एक रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय मंत्रियों की औसत सम्पत्ति आज १० कऱोड रुपये है और २००९ के चुनाव के बाद से उनकी सम्पत्ति में औसतन तीन कऱोड रुपये की वृद्धि हुई है। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिसर्च (एडीआर) और नेशनल इलेक्शन वाच (एनईडब्ल्यू) द्वारा गुरुवार को जारी रिपोर्ट में यह नतीजा तब दिखाया गया है जब कई मंत्रियों ने अपनी कई कम मूल्य की सम्पत्ति के बारे में नहीं बताया है। कई अन्य की सम्पत्ति पहले से घटी भी है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने तीन सितम्बर को सभी ७७ मंत्रियों की सम्पत्ति की घोषणा की थी। रिपोर्ट में कहा गया कि वर्त ान मंत्रिमंडल में मंत्रियों की औसत सम्पत्ति १०,६३,५५,०९७ रुपये है। वर्ष २००९ में यह ७३ कऱोड रुपये थी। वर्त ान मंत्री २००९ की तुलना में ३३ कऱोड रुपये अधिक समृद्ध हैं। २००९ के मुकाबले दो साल में यूपीए सरकार के ज्यादातर केंद्रीय मंत्री अमीर हुए हैं। औसतन एक मंत्री की संपत्ति में १० कऱोड रुपए का इजाफा हुआ है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिसर्च (एडीआर) और नेशनल इलेक्शन वॉच ने प्रधानमंत्री की वेबसाइट पर दी गई मंत्रियों की संपत्ति के आधार पर सूची तैयार की है। इसके अनुसार दो साल में सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री और डीएमके सांसद डॉ एस जगतरक्षकन की संपत्ति में सबसे ज्यादा ६४५ कऱोड की वृद्धि हुई है। २००९ में अपने हलफनामे में उन्होंने ५९ कऱोड की संपत्ति दिखाई थी। अब यह ब़ढकर ७० कऱोड हो गई है। इस सूची में दूसरे नंबर पर भारी उद्योग मंत्री प्रफुल्ल पटेल का नाम है। दो साल में प्रफुल्ल की संपत्ति ४२ कऱोड ब़ढी है। २००९ में उनके नाम पर ७९८ कऱोड रुपए की संपत्ति थी। यह ब़ढकर १२२ कऱोड हो गई है। मोइली की संपत्ति में ९५ प्रतिशत और कृष्णा की २३ प्रतिशत गिरावट : यूपीए सरकार में एसएम कृष्णा और एम वीरप्पा मोइली जैसे कुछ केंद्रीय मंत्री ऐसे हैं, जिनकी संपत्ति घटी है। मोइली की संपत्ति ९५ प्रतिशत तक घट गई है। २००९ में उन्होंने २९३ कऱोड रुपए की संपत्ति घोषित की थी, जो मार्च २०११ तक घटकर १३३ लाख रह गई। वहीं कृष्णा की संपत्ति २३ प्रतिशत तक घट गई। उन्होंने राज्यसभा में नामांकन दाखिल करते हुए संपत्ति ५७५ कऱोड रुपए बताई थी। जो मार्च २०११ में घटकर ३९७ कऱोड रुपए रह गई। मोइली का ताजा हलफनामा कहता है कि उनके पास कोई अचल संपत्ति नहीं है। २००९ में उनकी चल संपत्ति ५३ लाख की थी, जबकि अचल संपत्ति २३९ कऱोड की थी। २००९ में मोइली और उनके परिवार के पास ३० लाख रुपए की जमीन और आरटी नगर में दो कऱोड रुपए का एक मकान था। कृष्णा की चल संपत्ति में मामूली ब़ढोतरी दर्ज हुई है। जो २२३ कऱोड से ब़ढकर २८५ कऱोड रुपए हो गई। उनकी अचल संपत्ति की कीमत ३५१ कऱोड से घटकर १११ कऱोड रुपए रह गई है। इसके अलावा गृहमंत्री पी चिदंबरम, पेट्रोलियम मंत्री एस जयपाल रेड्डी, केंद्रीय मंत्री फारूक अब्दुल्ला और ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश की संपत्ति २००९ के मुकाबले घटी है।

No Comments to “मनमोहन के हर मंत्री की संपत्ति में औसतन १० कऱोड का इजाफा”

add a comment.

Leave a Reply

You must be logged in to post a comment.