मॉनसून १०१२ दिन में महाराष्ट्र के सभी क्षेत्रों में पहुंचने की उम्मीद

केरल, ३१ मई। भारतीय मौसम विभाग द्वारा की गई घोषणा के मुताबिक, दक्षिण पश्चिम मानसून केरल में दाखिल हो गया है। देश की कृषि आधारित अर्थव्यवस्था के लिए यह एक बहुत अच्छी खबर है क्योंकि कमजोर मानसून से देश की आर्थिक विकास की रफ्तार को झटका लग सकता था। झुलसाती गर्मी, पसीने की चिपचिप और लू के थप़ेडे बस कुछ दिन और! महाराष्ट्र सहित उत्तर भारत में गर्मी से पी़डत कऱोडों लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाते हुए मौसम विभाग ने मॉनसून के केरल पहुंचने की जानकारी दी है। केरल में पहुंचा मानसून आगामी १०१२ दिन में महाराष्ट्र के सभी क्षेत्रों में पहुंचने की उम्मीद मौसम विभाग ने जताई है। पुना में मानसून पूर्व वर्षा ने अपनी हाजिर सोमवार शाम दर्ज की। जिससे पुना का मौसम सुहाना हो गया। लोगों को गर्मी से राहत भी मिली। भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक अजीत त्यागी ने बताया मानसून केरल पहुंच गया है। हमें आशा है कि यह एक दिन के भीतर तटीय कर्नाटक तक पहुंच जाएगा। हालांकि उन्होंने कहा कि अरब सागर में तूफान के कारण मानसून की रफ्तार पश्चिमी तट के किनारे रहने की संभावना है, जिससे प्रायद्वीप के अंदरुनी हिस्सों में देरी से बारिश हो सकती है। त्यागी ने कहा सागर में थ़ोडा दबाव है, जो तूफान में बदल कर मानसून के अंदरुनी भागों में पहुंचने में देरी करवा सकता है। गौरतलब है कि मौसम विभाग इस बार मानसून के सामान्य रहने की पहले ही घोषणा कर चुका है। एक अच्छा मानसून निश्चित ही ग्रामीण क्षेत्रों के लिए और देश की आर्थिक प्रगति के लिए खुशखबरी बनेगा।

No Comments to “मॉनसून १०१२ दिन में महाराष्ट्र के सभी क्षेत्रों में पहुंचने की उम्मीद”

add a comment.

Leave a Reply

You must be logged in to post a comment.