२६ तक पास हो जाएगा परमाणु करार


डील फफाइनल करने के लिए जार्ज बुश का मनमोहन को न्योता वाशिंगटन, ११ सितंबर। भारत ने अमेरिका से समझौते के तहत अत्याधुनिक परमाणु तकनीक खरीदने की पहल कर दी है। भारतीय परमाणु ऊर्जा विभाग ने अमेरिका कंपनियों के साथ प्रारंभिक विचार विमर्श शुरू कर दिया है। अमेरिका कांग्रेस द्वारा भारतअमेकाि असैन्य परमाणु सहयोग के १२३ समझौते के अनुमोदन की उम्मीद में भारत ने परमाणु कारोबार में यह पहल कदमी की है। राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश ने भारतअमेरिका असैन्य परमाणु सहयोग समझौते को मूर्त रूप देने के लिए सभी दस्तावेज अंतिम मंजूरी के लिए अमेरिकी कांग्रेस अर्थात संसद को भेज दिए हैं। बुश प्रशासन को २६ सितंबर को सत्रावसान से पूर्व समझौते को पारित करना होगा क्योंकि ४ नवंबर को नए राष्ट्रपति के चुनाव होने वाले हैं। समझौते के दस्तावेज के साथ बुश प्रशासन ने कांग्रेस को हाइड कानून के तहत जरूरी दस्तावेज भी भेजे हैं, ताकि संसद इस समझौते पर विचार कर सके। इसके लिए बुश की ओर से प्रधानमंत्री डा मनमोहन सिंह को न्यौता दिया गया है कि वे डील फफाइनल के लिए उनके साथ आगे आये। गौरतलब है कि परमाणु समझौते को परमाणु आपूर्तिकर्ता देशों के समूह की मंजूरी मिलने के बाद अब अमेरिकी संसद से अंतिम मंजूरी मिलनी बाकी है। अमेरिकी संसद के समक्ष परमाणु आपूर्तिकर्ता देशों की मंजूरी और भारत अमेरिका के मध्य हुए १२३ समझौते के दस्तावेज रखे जाएंगे। संसद से हरी झंडी मिलने के बाद यह प्रभावी हो पाएगा। व्हाइट हाउस द्वारा जारी बयान में बुश ने कहा कि अमेरिका और भारत के बीच फ‘फ‘परमाणु ऊर्जा के प शेष पृष्ठ २ पर

No Comments to “२६ तक पास हो जाएगा परमाणु करार”

add a comment.

Leave a Reply